आव्हान-न्यायालय के निर्णय से पहले समाचार चेनलों पर दाती महाराज को ब्लात्कारी कहने के विरुद्ध सभी हिन्दू कानूनी कार्यवाही करें

अब दाती महाराज पर एक महिला ने बलात्कार का आरोप लगाया है। इस आरोप की पूरी जांच होनी चाहिए और जांच के बाद यदि दाती महाराज दोषी पाये जाते हैं तो उन्हे सबसे कठोर दंड मिलना चाहिए और यदि आरोप झूठा पाया जाता है तो उस महिला को कठोर दंड मिलना चाहिये।

अब समाचार चेनलों पर भी भरपूर चर्चाये आरंभ होंगी और हिन्दू विरोधी वक्ता अपनी होशियारी दिखाएंगे। उन्हे तो अवसर मिल गया है कि कैसे वे हिन्दू धर्म और हिन्दू संतो को बदनाम करें।

अभी जांच शुरू होने वाली है और विषय न्यायालय में जाएगा किन्तु उससे पहले हिन्दू विरोधी वक्ता दाती महाराज को ब्लात्कारी कहना आरंभ कर देंगे और हिन्दू संतो का अपमान करेंगे।

न्यायालय के निर्णय से पहले दाती महाराज को ब्लात्कारी कहना ही अपराध है और हिन्दू संतों को अपमानित करना हिंदुओं की धार्मिक भावना का दोहन है। किन्तु इन कार्यों के विरुद्ध हिन्दू कोई कानूनी कार्यवाही नहीं करते इसलिए ऐसे हिन्दू विरोधियों को बल मिलता है।

इसलिए मैं सभी हिंदुओं से आव्हान करता हूँ जो भी हिन्दू विरोधी वक्ता दाती महाराज को समाचार चेनल चर्चाओं मे ब्लात्कारी कहें, अथवा हिन्दू संतो का अपमान करे, उनके विरुद्ध पुलिस में लिखित में शिकायत करें और उस वक्ता के विरुद्ध हिंदुओं की धार्मिक भावना को ठेस पंहुचाने की शिकायत दर्ज कराएं।

न्यायालय में निर्णय से पहले किसी को ब्लात्कारी कहना उस व्यक्ति के मानवअधिकारों का हनन है इसलिए ऐसे हिन्दू विरोधी व्यक्ति के विरुद्ध राष्ट्रिय मानवाधिकार आयोग में भी ई मेल से शिकायत करें। शिकायत  पर राष्ट्रिय मानवाधिकार आयोग, चेयरमेन के नाम से cr.nhrc@nic.in  पर ई मेल द्वारा शिकायत करें।

हिंदुओं की निष्क्रियता हिन्दू विरोधियों को बल देती है। इसलिए हिंदुओं को अपने स्वाभिमान के लिए अपने कानूनी अधिकारों का प्रयोग करना ही होगा, नहीं तो निरंतर अपमानित होकर जीना पड़ेगा।

 

Buy Book of the week by Clicking on it NOW!.



Written By

loading...